CDP LIVE FREE MOCK TEST (FREE PDF) 02

COMMENT YOUR SCORE BELOW

  1. “मैं किसी की परवाह नहीं करता” ऐसी अभिवृत्ति वाले बच्चों के व्यवहार को क्या कहते हैं?
  • आक्रामकता
    • सुरक्षात्मकता
    • अस्वीकरण
    • पश्चगमन

पश्चगमन

 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा किशोरावस्था में सामाजिक विकास का एक लक्षण नहीं है?
  • अपने वय समूह का एक सक्रिय सदस्य होना
    • विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण होना
    • मैत्री संबंधों में भारी कमी होना
    • विशिष्ट रुचियों में विस्तार होना।

मैत्री संबंधों में भारी कमी होना

  1. ‘सतत और व्यापक मूल्यांकन’ (CCE) का उद्देश्य है?
  • केवल बालक की तर्कशक्ति का मूल्यांकन करना।
    • विकास के सभी पक्षों का मूल्यांकन करना।
    • केवल छात्र के ज्ञान का मूल्यांकन करना।
    • केवल छात्र की समझ का मूल्यांकन करना।

विकास के सभी पक्षों का मूल्यांकन करना।

  1. अधिगम प्रतिफल का तात्पर्य है?
  • बालक के व्यवहार में होने वाला परिवर्तन।
    • शिक्षक की शिक्षण विधियों में परिवर्तन।
    • पाठ्यवस्तु का परिमार्जन।
    • पाठ्यवस्तु का पूर्ण होना।

बालक के व्यवहार में होने वाला परिवर्तन।

  1. विवेचनात्मक चिन्तन व्यक्ति में वे योग्यताएँ और कौशल विकसित करने में सहायक है, जो है।
  • मूर्त अनुभव प्रदान करना।
    • उचित व्याख्या, विश्लेषण, मूल्यांकन और निष्कर्ष निकालना।
    • कुछ उत्पन्न करने और निर्माण करना।
    • प्रतिक्रिया की विधियों का चिन्तन करना।

उचित व्याख्या, विश्लेषण, मूल्यांकन और निष्कर्ष निकालना।

  1. एक किशोर के संवेगों के विषय में निम्नलिखित में से गलत कथन कौन-सा है?
  • संवेग अभिव्यक्ति अधिगम द्वारा परिवर्तित होती है
    • संवेग स्थायी होता है।
    • प्रत्येक संवेग से एक भावना जुड़ी होती है।
    • संवेग बाह्य उद्दीपनों से जाग्रत होता है।

संवेग स्थायी होता है।

 

  1. विकास सामान्यतः सिर से पाँव की तरफ अग्रसर होता है, विकास का यह सिद्धान्त कहलाता है।
  • द्विपार्श्व से एकपाय
    • प्रोक्सिमोडिस्टल (अन्दर से बाहर की ओर)
    • सामान्य से विशिष्ट
    • शिरोपादीय

शिरोपादीय

 

  1. संवेगों का विभेदीकरण किस समय होता है?
  • बच्चे के जन्म के समय
    • शैशवावस्था के दौरान
    • किशोरावस्था के दौरान
    • वयस्कावस्था के दौरान

शैशवावस्था के दौरान

Q.9 निम्नलिखित में से कौन सा युग्म सही नहीं है-
A- वाटसन – व्यवहारवाद
B- जॉन डीवी – संरचनावाद
C- जीन पियाजे – संज्ञानात्मक विकास
D- वर्दीमर – गेस्टाल्टवाद

ANS B

  1. एक बालक का सृजनात्मकता का स्तर औसत है,अकादमिक उपलब्धि उच्च है तथा सामाजिक विकास का स्तर कमजोर है, यह उदाहरण है।
  • अन्तर वैयक्तिक अन्तर
    • अन्तरा वैयक्तिक अन्तर
    • वैयक्तिक अन्तर
    • मापन योग्य वैयक्तिक अन्तर

अन्तरा वैयक्तिक अन्तर

  1. छात्रों में नैतिक मूल्यों का प्रभावी रूप से विकास किया जा सकता है, यदि अध्यापक
  • बार-बार मूल्यों की बात करे।
    • स्वयं उन पर आचरण करे।
    • महान व्यक्तियों की कहानियाँ सुनाये।
    • देवी-देवताओं की बातें करे।

स्वयं उन पर आचरण करे।

  1. किशोरावस्था में व्यवहार व मनोवृत्ति पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है?
  • शिक्षक का
    • माता-पिता का
    • संगी-साथियों का
    • चलचित्रों का

संगी-साथियों का

  1. संगणना अशक्तता समस्या सम्बन्धित है?
  • शुद्ध बोलने से
    • गलतियों के बिना लिखने से
    • सही सूचना (संकेत) सुनने से
    • गणितीय गणनाएँ करने से

गणितीय गणनाएँ करने से

 

  1. निर्मितिवादी कक्षा-कक्ष की निम्नलिखित में से कौन-सी विशेषताएँ हैं?
  • छात्रों द्वारा प्रयोग की योजना बनाना,निष्कर्ष निकालना और अपने निष्कर्षों की तुलना करना।
    • ज्ञान वस्तुनिष्ठ, सार्वभौमिक और पूर्ण है।
    • अध्यापक आधिकारिक ज्ञान छात्रों को स्थानान्तरित करता है।
    • छात्र ‘सही’ उत्तर को तलाशते हैं।

छात्रों द्वारा प्रयोग की योजना बनाना,निष्कर्ष निकालना और अपने निष्कर्षों की तुलना करना।

 

  1. एक बालक के सामाजीकरण हेतु अध्यापक द्वारा अपनायी गई निम्नलिखित में से कौन-सी प्रविधि उपयुक्त नहीं है?
  • प्रत्यक्ष शिक्षण
    • तादात्मीकरण
    • प्रजातन्त्रीय अनुशासन
    • अति-संरक्षण

अति-संरक्षण

  1. निम्नलिखित में से कौन-सी सृजनात्मक बालक की विशेषता (योग्यता) नहीं है?
  • विस्तारता
    • मौलिकता
    • विशुद्धता
    • नवीनता

विशुद्धता

  1. समेकित शिक्षा से तात्पर्य है?
  • व्यक्तिगत भिन्नताओं को सामान्य कक्षा-कक्ष में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को विभिन्न कक्षा-कक्षों में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को विशिष्ट विद्यालयों में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को घर पर अनुदेशन देकर पूरा करना।

व्यक्तिगत भिन्नताओं को सामान्य कक्षा-कक्ष में पूरा करना।

  1. किशोरावस्था बडे सघर्ष, तनाव व तुफान की अवस्था है। यह किसने कहा ?
    (1) थॅार्नडाइक
    (2) स्किनर
    (3) फ्रायड
    (4) स्टेनले हॅाल

ANS D

19• टी.ए.टी. व्यक्तित्व परीक्षण की कौन सी विधि का प्रकार है?
(1) व्यक्तिनिष्ठ विधि
(2) अप्रक्षेपी विधि
(3) अर्धप्रक्षेपी विधि
(4) प्रक्षेपी विधि।

ANS D

२0• निम्नलिखित में से सिग्मंड फ्रायड की अवधारणा है –
A इड  
B ईगो  
C सुपर ईगो 
D उपरोक्त सभी

ANS D

  1. टॉलमेन का “चिह्न अधिगम का सिद्धांत” अन्य किस नाम से जाना जाता है ?
    A चिह्न गेस्टाल्ट सिद्धांत
    B चिह्न सार्थकता सिद्धांत या प्रत्याशा सिद्धांत 
    C सप्रयोजन व्यवहारवाद  
    D उपरोक्त सभी

ANS D

२2• वोल्फ गेंग कोहलर द्वारा “अंतर्दृष्टि अधिगम” का प्रयोग कब किया गया ?
A सन् 1921में  
B सन् 1922 में  
C सन् 1917 में  
D सन् 1920 में

ANS D

२3• अंतर्दृष्टि अधिगम” में समस्या की किस स्थति पर ध्यान दिया जाता है ?
A सम्पूर्ण स्थति पर
B प्रारंभिक स्थति पर  
C विशेष स्थति पर  
D लुप्त स्थति पर 

ANS A

प्रश्न=24-मानसिक स्वास्थ्य परिषद की स्थापना हुई ?
अ) 1908
ब) 1902
स) 1904
द) 1901

ANS A

Q.25 राम नई पुस्तक से पढ़ना चाहता है परंतु परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से वह पुरानी और फटी पुस्तक से ही खुशी से पड़ता है यह स्थिति है?
A समायोजन
b भगनाशा
c कुंठा
d संघर्ष

ANS A

Q.26 ‘ समायोजन व्यक्ति और उसके वातावरण में असंतुलन का उल्लेख करता है’ यह परिभाषा किसने दी है?
A बोरिंग
b ऑल पोर्ट
c गुड
d गेट्स व अन्य

ANS D

Q.27 समायोजन एक अधिगम प्रक्रिया है. यह परिभाषा किसने दी है?
A wood worth
b good
c Skinner
d gates

ANS D

  1. 28. फ्रायड ने व्यक्ति के मनोलैंगिक विकास (Psychological development) की कितनी अवस्थाओं का उल्लेख किया है ?
    {A} दो
    {B} तीन
    {C} चार
    {D} पाँच

ANS D

  1. “विकास, अभिवृद्धि तक ही सीमित नहीं है। इसके बजाय, इसमें परिपक्वावस्था के लक्ष्य की ओर परिवर्तनों का प्रगतिशील क्रम निहित रहता है। विकास के परिणामस्वरुप व्यक्ति में नवीन विशेषताएं और नवीन योग्यताएं प्रकट होती है।” यह कथन है-
    {A} गेसेल
    {B} सोरेंसन
    {C} हरलॉक
    {D} फ्रायड
    ANS [C]
  2. . किस मत के अनुयायियों का कथन है कि विकास की क्रिया का आरम्भ सिर से होता है ?
    {A} सामान्य से विशिष्ट की ओर
    {B} विकास प्रक्रिया के समान प्रतिमान
    {C} मस्तबोध-मुखी सिद्धान्त
    {D} संगठित प्रक्रिया
    ANS [C]
  3. विकास के संदर्भ में मैक्डुगल ने-
    {A} व्यक्तित्व का विश्लेषण ( Personality analysis) किया
    {B} मूल प्रवृत्यात्मक व्यवहार का विश्लेषण किया
    {C} बालक के शारीरिक विकास का विश्लेषण किया
    {D} उपर्युक्त सभी
    ANS [B] 

 

  1. “मैं किसी की परवाह नहीं करता” ऐसी अभिवृत्ति वाले बच्चों के व्यवहार को क्या कहते हैं?
  • आक्रामकता
    • सुरक्षात्मकता
    • अस्वीकरण
    • पश्चगमन

 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा किशोरावस्था में सामाजिक विकास का एक लक्षण नहीं है?
  • अपने वय समूह का एक सक्रिय सदस्य होना
    • विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण होना
    • मैत्री संबंधों में भारी कमी होना
    • विशिष्ट रुचियों में विस्तार होना।
  1. ‘सतत और व्यापक मूल्यांकन’ (CCE) का उद्देश्य है?
  • केवल बालक की तर्कशक्ति का मूल्यांकन करना।
    • विकास के सभी पक्षों का मूल्यांकन करना।
    • केवल छात्र के ज्ञान का मूल्यांकन करना।
    • केवल छात्र की समझ का मूल्यांकन करना।
  1. अधिगम प्रतिफल का तात्पर्य है?
  • बालक के व्यवहार में होने वाला परिवर्तन।
    • शिक्षक की शिक्षण विधियों में परिवर्तन।
    • पाठ्यवस्तु का परिमार्जन।
    • पाठ्यवस्तु का पूर्ण होना।
  1. विवेचनात्मक चिन्तन व्यक्ति में वे योग्यताएँ और कौशल विकसित करने में सहायक है, जो है।
  • मूर्त अनुभव प्रदान करना।
    • उचित व्याख्या, विश्लेषण, मूल्यांकन और निष्कर्ष निकालना।
    • कुछ उत्पन्न करने और निर्माण करना।
    • प्रतिक्रिया की विधियों का चिन्तन करना।
  1. एक किशोर के संवेगों के विषय में निम्नलिखित में से गलत कथन कौन-सा है?
  • संवेग अभिव्यक्ति अधिगम द्वारा परिवर्तित होती है
    • संवेग स्थायी होता है।
    • प्रत्येक संवेग से एक भावना जुड़ी होती है।
    • संवेग बाह्य उद्दीपनों से जाग्रत होता है।

 

  1. विकास सामान्यतः सिर से पाँव की तरफ अग्रसर होता है, विकास का यह सिद्धान्त कहलाता है।
  • द्विपार्श्व से एकपाय
    • प्रोक्सिमोडिस्टल (अन्दर से बाहर की ओर)
    • सामान्य से विशिष्ट
    • शिरोपादीय
  1. संवेगों का विभेदीकरण किस समय होता है?
  • बच्चे के जन्म के समय
    • शैशवावस्था के दौरान
    • किशोरावस्था के दौरान
    • वयस्कावस्था के दौरान
  1. एक बालक का सृजनात्मकता का स्तर औसत है,अकादमिक उपलब्धि उच्च है तथा सामाजिक विकास का स्तर कमजोर है, यह उदाहरण है।
  • अन्तर वैयक्तिक अन्तर
    • अन्तरा वैयक्तिक अन्तर
    • वैयक्तिक अन्तर
    • मापन योग्य वैयक्तिक अन्तर
  1. छात्रों में नैतिक मूल्यों का प्रभावी रूप से विकास किया जा सकता है, यदि अध्यापक
  • बार-बार मूल्यों की बात करे।
    • स्वयं उन पर आचरण करे।
    • महान व्यक्तियों की कहानियाँ सुनाये।
    • देवी-देवताओं की बातें करे।
  1. किशोरावस्था में व्यवहार व मनोवृत्ति पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है?
  • शिक्षक का
    • माता-पिता का
    • संगी-साथियों का
    • चलचित्रों का
  1. संगणना अशक्तता समस्या सम्बन्धित है?
  • शुद्ध बोलने से
    • गलतियों के बिना लिखने से
    • सही सूचना (संकेत) सुनने से
    • गणितीय गणनाएँ करने से

 

  1. निर्मितिवादी कक्षा-कक्ष की निम्नलिखित में से कौन-सी विशेषताएँ हैं?
  • छात्रों द्वारा प्रयोग की योजना बनाना,निष्कर्ष निकालना और अपने निष्कर्षों की तुलना करना।
    • ज्ञान वस्तुनिष्ठ, सार्वभौमिक और पूर्ण है।
    • अध्यापक आधिकारिक ज्ञान छात्रों को स्थानान्तरित करता है।
    • छात्र ‘सही’ उत्तर को तलाशते हैं।

 

  1. एक बालक के सामाजीकरण हेतु अध्यापक द्वारा अपनायी गई निम्नलिखित में से कौन-सी प्रविधि उपयुक्त नहीं है?
  • प्रत्यक्ष शिक्षण
    • तादात्मीकरण
    • प्रजातन्त्रीय अनुशासन
    • अति-संरक्षण
  1. निम्नलिखित में से कौन-सी सृजनात्मक बालक की विशेषता (योग्यता) नहीं है?
  • विस्तारता
    • मौलिकता
    • विशुद्धता
    • नवीनता
  1. समेकित शिक्षा से तात्पर्य है?
  • व्यक्तिगत भिन्नताओं को सामान्य कक्षा-कक्ष में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को विभिन्न कक्षा-कक्षों में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को विशिष्ट विद्यालयों में पूरा करना।
    • व्यक्तिगत भिन्नताओं को घर पर अनुदेशन देकर पूरा करना।
  1. किशोरावस्था बडे सघर्ष, तनाव व तुफान की अवस्था है। यह किसने कहा ?
    (1) थॅार्नडाइक
    (2) स्किनर
    (3) फ्रायड
    (4) स्टेनले हॅाल

19• टी.ए.टी. व्यक्तित्व परीक्षण की कौन सी विधि का प्रकार है?
(1) व्यक्तिनिष्ठ विधि
(2) अप्रक्षेपी विधि
(3) अर्धप्रक्षेपी विधि
(4) प्रक्षेपी विधि।

२0• निम्नलिखित में से सिग्मंड फ्रायड की अवधारणा है –
A इड  
B ईगो  
C सुपर ईगो 
D उपरोक्त सभी

  1. टॉलमेन का “चिह्न अधिगम का सिद्धांत” अन्य किस नाम से जाना जाता है ?
    A चिह्न गेस्टाल्ट सिद्धांत
    B चिह्न सार्थकता सिद्धांत या प्रत्याशा सिद्धांत 
    C सप्रयोजन व्यवहारवाद  
    D उपरोक्त सभी

२2• वोल्फ गेंग कोहलर द्वारा “अंतर्दृष्टि अधिगम” का प्रयोग कब किया गया ?
A सन् 1921में  
B सन् 1922 में  
C सन् 1917 में  
D सन् 1920 में

२3• अंतर्दृष्टि अधिगम” में समस्या की किस स्थति पर ध्यान दिया जाता है ?
A सम्पूर्ण स्थति पर
B प्रारंभिक स्थति पर  
C विशेष स्थति पर  
D लुप्त स्थति पर 

प्रश्न=24-मानसिक स्वास्थ्य परिषद की स्थापना हुई ?
अ) 1908
ब) 1902
स) 1904
द) 1901

Q.25 राम नई पुस्तक से पढ़ना चाहता है परंतु परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से वह पुरानी और फटी पुस्तक से ही खुशी से पड़ता है यह स्थिति है?
A समायोजन
b भगनाशा
c कुंठा
d संघर्ष

Q.26 ‘ समायोजन व्यक्ति और उसके वातावरण में असंतुलन का उल्लेख करता है’ यह परिभाषा किसने दी है?
A बोरिंग
b ऑल पोर्ट
c गुड
d गेट्स व अन्य

Q.27 समायोजन एक अधिगम प्रक्रिया है. यह परिभाषा किसने दी है?
A wood worth
b good
c Skinner
d gates

  1. 28. फ्रायड ने व्यक्ति के मनोलैंगिक विकास (Psychological development) की कितनी अवस्थाओं का उल्लेख किया है ?
    {A} दो
    {B} तीन
    {C} चार
    {D} पाँच
  2. “विकास, अभिवृद्धि तक ही सीमित नहीं है। इसके बजाय, इसमें परिपक्वावस्था के लक्ष्य की ओर परिवर्तनों का प्रगतिशील क्रम निहित रहता है। विकास के परिणामस्वरुप व्यक्ति में नवीन विशेषताएं और नवीन योग्यताएं प्रकट होती है।” यह कथन है-
    {A} गेसेल
    {B} सोरेंसन
    {C} हरलॉक
    {D} फ्रायड

  3. . किस मत के अनुयायियों का कथन है कि विकास की क्रिया का आरम्भ सिर से होता है ?
    {A} सामान्य से विशिष्ट की ओर
    {B} विकास प्रक्रिया के समान प्रतिमान
    {C} मस्तबोध-मुखी सिद्धान्त
    {D} संगठित प्रक्रिया

 

 

Spread the love

4 thoughts on “CDP LIVE FREE MOCK TEST (FREE PDF) 02

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page